Tokyo Paralympics
Share it

टोक्यो: भारत के विनोद कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक गेम्स में भारत को तीसरा मेडल दिला दिया है. विनोद ने डिस्कस थ्रो के F52 कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम कर लिया है. इतना ही नहीं इसी प्रतियोगिता में उन्होंने अपने नाम एशियन रिकॉर्ड भी दर्ज कर लिया है. ये आज के दिन भारत का लगातार तीसरा मेडल है. 

विनोद कुमार ने रचा इतिहास

विनोद कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में इतिहास रचते हुए डिस्कस थ्रो में कांस्य पदक अपने नाम कर लिया है. विनोद ने अपने चक्के से 19.91 की दूरी तय कर ये पदक पक्का किया. अपनी 6 कोशिशों में विनोद ने 17.46 मीटर का पहला थ्रो फेंका. इसके बाद उन्होंने 18.32 मीटर, 17.80 मीटर, 19.20 मीटर, 19.91 मीटर और 19.81 मीटर के थ्रो किए. उन्होंने अपने पांचवें थ्रो के साथ रिकॉर्ड कायम किया.

भविना ने खोला खाता

टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics 2020) के टेबल टेनिस वीमेंस सिंगल्स क्लास 4 (Table Tennis Women’s Singles Class 4) के फाइनल में भाविना पटेल (Bhavina Patel) को चीन (China) की जोउ यिंग (Zhou Ying) ने 7-11, 5-11, 6-11 से मात दी, ऐसे में उनके हाथ सिल्वर मेडल लगा. टोक्यो पैरालंपिक गेम्स में ये भारत का पहला मेडल है. भाविना ने पहले गेम में झाउ यिंग को अच्छी टक्कर दी लेकिन चीन की 2 बार की गोल्ड मेडल विनर ने एक बार लय हासिल करने के बाद भारतीय खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया और सीधे गेम में आसान जीत दर्ज की.

निषाद ने भी जीता सिल्वर

भाविना के खाता खोलने के बाद भारत के निषाद कुमार ने पुरूषों की ऊंची कूद में सिल्वर जीता. निषाद कुमार ने रविवार को यहां टोक्यो पैरालंपिक की पुरूषों की ऊंची कूद टी46 स्पर्धा में एशियाई रिकार्ड के साथ रजत पदक जीता. कुमार ने 2.06 मीटर की कूद लगाकर एशियाई रिकॉर्ड बनाया और दूसरे स्थान पर रहे. अमेरिका के डलास वाइज को भी रजत पदक दिया गया क्योंकि उन्होंने और कुमार दोनों ने समान 2.06 मीटर की कूद लगाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.