Afghanistan
Share it

नई दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है, न्यूजीलैंड क्रिकेट (New Zealand Cricket) के बाद इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (England & Wales Cricket Board) ने भी पाक को तगड़ा झटका दिया है.

पाकिस्तान नहीं जाएगी इंग्लिश टीम

ईसीबी (ECB) ने अक्टूबर में होने वाले इंग्लैंड की महिला और पुरुष टीमों के पाकिस्तान टूर (England Tour of Pakistan) को फिलहाल टाल दिया है. हाल में ही न्यूजीलैंड (New Zealand) ने वनडे सीरीज शुरू होने से चंद घंटने पहले पाक दौरा रद्द कर दिया था.

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले का था प्रोग्राम

ईसीबी (ECB) ने अपने आधिकारिक बयान में कहा, ‘इस साल की शुरुआत में हमने टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) से पहले तैयारियों के लिए पाकिस्तान में मैच खेलने की हामी भरी थी. इसके अलावा महिला क्रिकेट टीम को भी पुरुष टीम के साथ पाकिस्तान का दौरा (Pakistan Tour) करना था.’

मीटिंग में हुआ अहम फैसला

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (England & Wales Cricket Board) ने कहा, ‘ईसीबी ने इस हफ्ते के आखिर में मीटिंग की और ये फैसला कि लिया कि महिला और पुरुष टीम के अक्टूबर में पाकिस्तान दौरे (Pakistan Tour) से फिलहाल हटने का फैसला किया है.’

खिलाड़िया के मेंटल हेल्थ का ख्याल

ईसीबी (ECB) ने खिलाड़ियों और सपॉर्ट स्टाफ के शारीरिक और मेंटल हेल्थ (Mental Health) को तरजीह देते हुए यह फैसला किया है. कोरोना वायरस (Coronavirus) और बायो-बबल (Bio Bubble) के माहौल की वजह से खिलाड़ियों की सेहत पर काफी बुरा असर पड़ रहा है

बायो बबल की लेकर चिताएं
ईसीबी ने कहा , ‘हमारे खिलाड़ियों और सपॉर्ट स्टाफ का मानसिक स्वास्थ्य हमारे लिए हमेशा टॉप प्राथमिकता बना रहेगा. और मौजूदा परिस्थितियों में यह और भी ज्यादा हो जाता है. हमें पता है कि इस इलाके में जाने को लेकर काफी चिंताएं हैं और हमें लगता है कि अगर हम इस दौरे पर जाते हैं तो दल पर और ज्यादा दबाव पड़ेगा. वो पहले से ही कंट्रोल कोरोना माहौल में रहकर काफी दबाव में हैं.’

पीसीबी फिर हुआ मायूस

पीसीबी (PCB) के नए चेयरमैन रमीज राजा ने ईसीबी के फैसले पर निराशा व्यक्त की. राजा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘इंग्लैंड का अपनी प्रतिबद्धता से हटने और अपने क्रिकेट समुदाय के एक सदस्य से वादा पूरा न करने से निराश हूं जबकि इस समय हमें इसकी सबसे अधिक जरूरत थी.’