CBSE 10th Exam
Share it

नई दिल्ली: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की 10वीं और 12वीं क्लास के ऐसे छात्र जो बाहर रह रहे हैं उन्हें बड़ी राहत दी गई है. सीबीएसई 10th और 12th फर्स्ट टर्म एग्जाम अगले महीने से शुरू होने जा रहे हैं, ऐसे में कोरोना के चलते बाहर रह रहे छात्रों के लिए ये बड़ी राहत हो सकती है. 

सेंटर बदलने की कर सकते हैं रिक्वेस्ट

असल में कोरोना के चलते कई छात्र उस शहर में नहीं हैं जहां उन्होंने एडमिशन लिया था, यानी कि कई छात्र अपने स्कूल-कॉलेज के अलावा किसी और शहर में रह रहे हैं. इन छात्र-छात्राओं को बोर्ड एग्जाम के लिए सेंटर बदलने की परमीशन दी गई है. यानी ऐसे छात्र जहां रह रहे हैं वहां के सेंटर के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं. सीबीएसई ने बुधवार को यह घोषणा की.

कहां देनी होगी एप्लिकेशन

सीबीएसई एग्जाम कंट्रोलर संयम भारद्वाज ने कहा, ‘बोर्ड के यह संज्ञान में आया है कि कुछ स्टूडेंट्स अब भी उस शहर में नहीं हैं, जहां उन्होंने एडमिशन लिया था. ये छात्र कहीं और रह रहे हैं. इस संबंध में तय किया गया है कि स्टूटेंड एग्जाम सेंटर सिटी में बदलाव के लिए अपने स्कूलों में एप्लिकेशन दें.’ भारद्वाज ने कहा, ‘स्कूल, रिक्वेस्ट को ऑनलाइन तरीके से बोर्ड तक पहुंचाने के सीबीएसई के निर्देशों का पालन करेंगे.’

ये है डेटशीट

उल्लेखनीय है कि 10वीं क्लास के लिए टर्म-1 के एग्जाम 30 नवंबर से, जबकि 12वीं के लिए एक दिसंबर से होने शुरू हो रहे हैं. दसवीं कि डेटशीट इस प्रकार है-
30 Nov: सोशल साइंस (11:30_1pm)
2 Dec: साइंस (11:30_1pm)
3 Dec: होम साइंस (11:30_1pm)
4 Dec: मैथमेटिक्स स्टैंडर्ड, मैथमेटिक्स बेसिक्स (11:30_1pm)
8 Dec: कंप्यूटर एप्लीकेशन (11:30_1pm)
9 Dec: हिंदी कोर्स A, कोर्स B (11:30_1pm)
11 Dec: इंग्लिश लैंग्वेज, लिट्रेचर (11:30_1pm)

एग्जाम पैटर्न में बदलाव

इसके अलावा इस बार एग्जाम पैटर्न में भी बदलाव किया गया है. 10वीं और 12वीं की परीक्षा में सब्जेक्टिव प्रश्न नहीं होंगे और 90 मिनट की ऑब्जेक्टिव परीक्षा होगी. साथ ही इस बार परीक्षा ऑफलाइन होगी. 10वीं और 12वीं की पहले टर्म-1 की बोर्ड परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे, इसके लिए 90 मिनट का समय दिया जाएगा.

जानें कैसे होंगे 10वीं और 12वीं के एग्जाम

– बोर्ड की ओर से टर्म-1 एग्जाम 90 मिनट का कराया जाएगा.
– परीक्षा सुबह 11.30 बजे से शुरू होगी.
– परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे.
– एग्जाम OMR शीट पर होगा.
– वहीं, अगर छात्र गलत सर्कल मार्क कर देते हैं, तो सुधार को ऑप्शन भी दिया जाएगा. हर क्वेश्चन के चारों सर्कल के आगे खाली जगह दी जाएगी.