#madhya pradesh political crisis
Share it

नई दिल्ली: नई दिल्ली: नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे की वजह से कांग्रेस (Congress) में एक बार उथल-पुथल मच गई है. पंजाब (Punjab) में जब नए कैप्टन चरणजीत सिंह चन्नी की अगुवाई में नई सरकार बनी तो लगा कि कांग्रेस का संकट सुलझा गया है. वहीं आज आया सिद्धू का वीडियो संदेश ये संकेत दे रहा है कि समस्या सुलझने के बजाए और गंभीर हो गई है. कांग्रेस आलाकमान की टेंशन बढ़ाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू अब अकेले होते दिख रहे हैं. इस बीच कांग्रेस नेता सुखविंदर सिंह काका कंबोज ने उन्हें विश्वासघाती करार दिया है. 

बीजेपी नेताओं ने कसा तंज

पंजाब में कांग्रेस की वर्तमान हालत और नेताओं की हो रही किरकिरी को लेकर बीजेपी नेताओं ने निशाना साधा है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रथ्वीराजपुर में आयोजित एक जनसभा में राहुल गांधी पर निशाना साधा. पंजाब के एपिसोड पर शिवराज ने कहा, ‘पंजाब में सिद्धू की वजह से अमरिंदर सिंह को हटाया गया और वो खुद भाग गए. जब तक राहुल गांधी हैं हमें कुछ करने की जरूरत नहीं है.’

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने साधा निशाना

इस बीच केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी (Ajay Mishra Teni) ने दावा किया कि कांग्रेस (Congress) बिना ड्राइवर की गाड़ी हो गई है या जो ड्राइवर बैठा है वो खुद ही नहीं सोच रहा कि गाड़ी किधर ले जानी है. इसी सिलसिले में उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) को अपमानित किया और फिर नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाया.

अजय मिश्रा टेनी ने कहा, ‘सिद्धू ऐसी ही मानसिकता के व्यक्ति रहे हैं. उनके काम करने की शैली असंतुलित आदमी की है. वे महत्वाकांक्षा के लिए देश की सुरक्षा पर क्या प्रभाव पड़ेगा इसकी चिंता नहीं करते. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सही कहा था कि ये व्यक्ति भरोसे के लायक नहीं है.’

चौतरफा घिरे सिद्धू?

वहीं दूसरी ओर पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस आलाकमान की टेंशन बढ़ाने वाले सिद्धू अब अकेले पड़ते दिख रहे हैं. कांग्रेस नेता सुखविंदर सिंह काका कंबोज ने उन्हें विश्वासघाती करार दिया है. वहीं नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू से बातचीत की थी और उनसे यह भी अपील की थी कि वो बैठ कर बात करें और मुद्दों को सुलझाने की कोशिश करें