Afghanistan
Share it

नई दिल्ली: तालिबान (Taliban) के कब्जे के बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) से भगदड़ में कितनों को अपनों से बिछना पड़ा है तो कइयों को बहुत कुछ गंवाना पड़ा है. इस बीच संकट में भी एक सुखद तस्वीर लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींच रही है. दुबई से ब्रिटेन जाने वाली फ्लाइट में धरती से 33000 फीट की ऊंचाई पर एक महिला यात्री ने केबिन क्रू में बच्ची को जन्म दिया. मां-बेटी दोनों स्वस्थ हैं.

बच्ची का नाम रखा Havva

Dailymail की रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान (Afghanistan) की रहने वाली सोमन नूरी तालिबान के कब्जे के बाद काबुल छोड़ चुकी थीं. दुबई से वे बर्मिंघम की फ्लाइट में सवार हुईं. चूंकि वे प्रेग्नेंट थीं इसलिए, इसी दौरान उन्हें पेन होने लगा. विमान में कोई डॉक्टर नहीं था. इसके बाद तुर्की एयरलाइंस के केबिन क्रू ने कुवैत के ऊपर हवाई क्षेत्र में सोमन नूरी की सफल डिलिवरी कराई. स्वस्थ बच्ची का जन्म हुआ, जिसका नाम रखा गया हव्वा (Havva) रखा गया है जो अंग्रेजी में ईव का अनुवाद है.

अमेरिकी सैन्य विमान में बच्चे का हुआ था जन्म 

हव्वा 26 वर्षीय नूरी और 30 वर्षीय ताज मोहहम्मद की तीसरी संतान है. तुर्की एयरलाइंस के मुताबिक मां और बच्ची स्वस्थ हैं. हालांकि एहतियात तौर पर विमान कुवैत में उतरा गया इसके बाद बर्मिंघम के लिए यात्रा जारी रही. नूरी तालिबान के सत्ता में लौटने के बाद अफगानिस्तान से भागकर जन्म देने वाली पहली महिला नहीं हैं. इससे पहले एक महिला ने पिछले हफ्ते जर्मनी में उतरे अमेरिकी सैन्य विमान में बच्चे को जन्म दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.