Bar and Bench
Share it

नई दिल्ली: अगर आपको भी अपने जूते और कपड़े इधर-उधर फेंकने की आदत है तो सुधर जाइए. ऐसा करना दो वजहों से सही रहेगा. पहला ये कि चीजों को व्यवस्थित रखना शिष्टाचार (Etiquette) की निशानी है. दूसरी वजह ये हो सकती है कि ऐसा करके आप जबरदस्ती के कोर्ट कचहरी के चक्कर में पड़ने से बच सकते हैं. 

शादी के पहले कोर्ट पहुंचा मामला

अक्सर लोग जूते-चप्पल उतारकर उन्हें सही जगह (शू-रैक) में रखना भूल जाते हैं. लिहाजा कभी कभार परिवार का कोई सदस्य इनसे उलझकर आपको डांट फटकार भी लगाता होगा. यानी बात इससे आगे नहीं बढ़ती थी लेकिन इस बार ठीक ऐसा मामला कोर्ट पहुंच गया. दरअसल अमेरिका (US) के ओहायो (Ohio) में रहने वाले जॉन वॉलवर्थ (John Walworth) के साथ जब ऐसा हुआ, तो इससे भड़के जॉन ने अपनी पत्नी के खिलाफ केस कर दिया.

टूट गई थी हड्डियां

दरअसल न्यूज़वीक में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक जॉन वॉलवर्थ (John Walworth) के साथ जो हुआ, वो इसलिए असामान्य मामला था क्योंकि पत्नी की जूती से उलझकर वे सीधे सीढ़ियों से नीचे गिरे. काफी ऊंचाई से गिरने की वजह से उनके शरीर की कई हड्डियां टूट गईं. इससे खार खाए पति ने अपनी पत्नी जूडी (Judy Khoury) के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया. पति का कहना था कि इस घटना से उसे न सिर्फ शारीरिक नुकसान हुआ, बल्कि मेडिकल बिल के तौर पर उन्हें लाखों का आर्थिक नुकसान भी हुआ.

साढ़े तीन साल पुराना केस

दरअसल ये जोड़ा ओहायो में रहता है. वहीं ये हादसा फरवरी, 2018 में तब हुआ, जब दोनों की शादी भी नहीं हुई थी. जॉन अपनी मंगेतर की मदद के लिए बेसमेंट गए थे. इस बीच उनका पैर जूतों में फंसा और वो सीढ़ियों पर से गिर पड़े. इस हादसे को लेकर जॉन ने जूडी पर मुकदमा करते हुए कहा कि उसकी लापरवाही की वजह से उसे 60 लाख से ज्यादा का इलाज कराना पड़ा वहीं नौकरी से छुट्टी लेने की वजह से भी उन्हें लाखों का नुकसान हुआ.

खारिज हो गया केस

पूरी तरह ठीक होने के बाद अक्टूबर, 2019 में उन्होंने अपने वकील के जरिये जूडी पर केस किया जिसमें आरोप लगाया कि उसने घर में खतरनाक स्थितियां पैदा कीं. वहीं इस मामले में अटॉर्नी सी जोसेफ मैक्लॉघ और कैथरीन क्लेमंस ने पूरी मजबूती से अपना पक्ष रखा. सुनवाई के दौरान जूडी ने अपनी सफाई में कहा कि वे अपने जूते दरवाज़े के पीछे रखती थीं. उस वक्त उनके मंगेतर को ये बात नहीं पता थी और उन्हें ये बात भी साफ-साफ नहीं पता है ये हादसा जूतों की वजह से ही हुआ.

तीन जजों के पैनल ने मामले की सुनवाई की और जॉन के मुकदमे को खारिज़ कर दिया गया. इस पूरी घटना में सबसे दिलचस्प बात ये रही कि मुकदमा खारिज होने से पहले अप्रैल, 2019 में इस कपल ने शादी भी कर ली थी.