Share it

राष्ट्रीय अधिवेशन में देश विदेश के नामचीन पत्रकार हुए सम्मानित।

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश।

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन का तृतीय राष्ट्रीय अधिवेशन, सम्मान समारोह और विचार गोष्ठी लोकसेवा संस्थान प्रयाग स्ट्रीट में कई निर्णयों के साथ सम्पन्न हुआ।अधिवेशन में पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर पत्रकारों ने जोरदार ढंग से आवाज़ उठाई। पत्रकारों ने इस कानून में देरी के लिए सरकार को कठघरे में खड़ा किया। वक्ताओं का मानना है कि सरकार पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर कताई गम्भीर नहीं है। अधिवेशन में ये भी तय हुआ कि अगर जल्दी ही सरकार पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाती है तो इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन राज्यों से लेकर देश स्तर तक क्रम बद्ध तरीके से आंदोलन करेगा। अधिवेशन की अध्यक्षता इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने की।
संगोष्ठी में बोलते हुए एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने कहा कि पत्रकार सुरक्षा कानून को लागू करने में सरकार को गम्भीर नहीं है। सरकार कहती है कि सब का साथ सब का विकास ,नारा पत्रकारों के मामले में सार्थक नहीं है। उन्होंने कहा कि इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन इस कानून को लेकर एक निर्णायक लड़ाई लड़ने के लिए कमर कस चुका है।हम पत्रकारों के दूसरे संगठनों को भी साथ लेंगे। क्यों कि हमारी आवाज़ तभी सुनी जायेगी जब सारे पत्रकार एक जुट हो।

km1


अलग अलग संगठनों में काम करने का ये मतलब नहीं है कि पत्रकार एक नहीं है। सरकार गलत फहमी में है। जरूरत पड़ने पर सारे पत्रकार एक हो इस कानून के लिए लड़ाई लड़ेंगे।श्री कुरैशी ने ये भी कहा कि जिस तरह से शिक्षक निर्वाचन से एक शिक्षक एम एल सी चुना जाता है।उसी तरह से पत्रकारों के लिए भी एक निर्वाचन प्रक्रिया तय हो ताकि नेताओं की सीढ़ी के बिना ही पत्रकारों की आवाज सरकार तक पहुंच सके।
विचार गोष्ठी को संबोधित करते हुए एसोसिएशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सत्येन्द्र कुमार मिश्र ने बताया की पत्रकारों के ऊपर हो रहे निरंतर हमलाए एवम फर्जी मुकदमों के प्रति सरकार को जागरूक होना चाहिए और पत्रकारों के हित के लिए सुरक्षा कानून बनाए जाने चाहिए एवम वेब न्यूज पोर्टल के पत्रकारों को भी प्रिंट एवम इलेक्ट्रानिक मीडिया की तरफ मान्यता देनी चाहिए।

km5


बिहार प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार सम्राट ने कहा कि पत्रकार नेताओं को आगे बढ़ाते और समाज सेवा करते हैं लेकिन हम अपनी ही सुरक्षा के लिए सरकार की ओर ताक रहे हैं। उन्होंने कहा कि पत्रकारों के साथ सरकार छल कर रही है। सरकार केवल शब्दों में पत्रकारों की सुरक्षा करती है। महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष असलम कुरैशी ने कहा कि सरकार को सुरक्षा कानून तत्काल लागू करना चाहिए। बिहार के प्रदेश महासचिव के केएम राज ने कहा कि इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन में पत्रकारों की आवाज को बुलंद करने शक्ति है।ये ऐसा मंच है जहां से सरकार को हमारी आवाज़ सुननी पड़ेगी। राष्ट्रीय विधि सलाहकार सनोबर अली ने कानूनी पहलुओं पर विचार रखे और कहा कि एक जुट होकर ही कानून बनवाने में सफलता मिल सकती है। नेपाल से आये वरिष्ठ पत्रकार इशतेयाक अहमद ने भी कहा कि वह भी नेपाल सरकार से कानून की मांग करेंगे। प्रयागराज के पत्रकार आलोक मालवीय, साकिब अनवर, एसोसिएशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सत्येन्द्र मिश्र, मध्य प्रदेश के प्रदेश महासचिव आरिफ खान, अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार के चेयरमैन सुरेश सिंह तोमर,एलेक्ट्रानिक मीडिया क्लब प्रयागराज के संयोजक विरेन्द्र पाठक, संदीप तिवारी, राजकुमार यादव आदि ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संयोजन एसोसिएशन के राष्ट्रीय काउंसिल सदस्य सलमान अहमद और सह संयोजक जिला इकाई के अध्यक्ष अभिनव केसरवानी ने किया। एसोसिएशन के जिला इकाई के प्रथम सदस्य अशोक श्रीवास्तव राजा का विशेष सहयोग रहा। संचालन राष्ट्रीय काउंसिल सदस्य सलमान अहमद और जिला संरक्षक शाहिद नकवी ने किया। कार्यक्रम में रिजवान अंसारी,अशफी खान रंजित निशाद,असुतोष श्रीवास्तव,फैजान रजा, मोहम्मद अख्तर,इमरान युसुफ, शहबाज अंसारी,यश गुप्ता,सोमराज वर्मा,हरिओम केसरवानी, मिथिलेश पाठक, अम्बरीष अग्रवाल,विवेक श्रीवास्तव,करुणाकर राम त्रिपाठी,अमनराज,अरशद, गुफरान खान, मोहम्मद इरफान, डाक्टर जैदउल्लाह आदि एसोसिएशन के सक्रिय सदस्य और पदाधिकारी मौजूद रहे। कार्यक्रम में बड़ी तादाद में स्थानीय लोग मौजूद रहे।