Ayurvedic Drinks After Delivery
Share it

Post Delivery Ayurvedic Drinks: आमतौर पर यह देखा जाता है कि बच्‍चे के जन्‍म से पहले माताओं के खान पान को लेकर खूब सतर्कता बरती जाती है लेकिन बच्‍चे के जन्‍म के बाद (Post Delivery) लोगों का सारा ध्‍यान शिशु पर चला जाता है और नई मांओं (New Mother) को पोस्‍ट डिलिवरी समस्‍याओं से जूझना पड़ता है. दरअसल, बच्चे के जन्म के बाद भी महिलाओं को शरीर में कमजोरी, विभिन्न अंगों में दर्द आदि कई तरह की समस्याएं होती हैं. इतना ही नहीं, शरीर के अंदरूनी अंगों को दोबारा से हील करने में समय लगता है. इसके अलावा ब्रेस्ट फीडिंग की समस्‍याओं से निपटने के लिए भी तमाम तरह की मशक्‍कत उन्‍हें करनी पड़ती है. ऐसे में अगर मां की सेहत जल्‍द से जल्‍द ठीक नहीं होगी तो शिशु को पोषण भी अच्‍छी तरह नहीं मिल पाएगा. ऐसे में कुछ आयुर्वेदिक ड्रिंक्‍स हैं जिनके सेवन से पोस्‍ट डिलीवरी समस्‍याओं को जल्‍द से जल्‍द ठीक किया जा सकता है. तो आइए जानते हैं क्‍या हैं वे ड्रिंक्‍स.

1. अश्वगंधा और इलायची का काढ़ा

नई मांओं को डिलीवरी के बाद एसिडिटी और ज्वाइंट पेन की समस्या से जूझना पड़ता है. इसके लिए आप एक गिलास पानी में एक चम्मच अश्वगंधा और दो इलायची कूटकर डालें और गैस पर पानी को उबलने दें. जब पानी आधा हो जाए तो गैस बंद करें और इस काढ़े को छानकर पिएं. पोस्ट डिलीवरी में महिलाओं के लिए यह बहुत ही लाभदायक है.

2. त्रिफला चाय का सेवन

त्रिफला के चूर्ण में आंवला, हरड़ और बहेड़ा होता है जो पेट के लिए किसी फायदेमंद है. डिलीवरी के बाद महिलाओं को पेट की किसी भी समस्‍या को ठीक करने में ये फायदेमंद साबित होता है. ऐसे में आप दो कप पानी में दो चम्‍मच त्रिफला चूर्ण डालें और उबालें. आधा हो जाने पर इसे छानकर पी लें. आंवले में मौजूद विटामिन सी महिला के शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है जबकि हरड़ और बहेड़ा इम्युनिटी को मजबूत बनाता है.

3. हल्दी का दूध

डिलीवरी के बाद महिलाओं को हल्दी के दूध का सेवन जरूर करना चाहिए. इसके सेवन से प्रेगनेंसी और डिलीवरी से शरीर को हुए नुकसान तेजी से रिकवर करते हैं. ब्लड क्लॉटिंग या यूट्रस संबंधी समस्‍याओं में भी इससे लाभ मिलता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.